Labels

Monday, April 24, 2017

अपनी बात

प्रथम पोस्ट-  लोकप्रिय उपन्यास संरक्षण- एक पहल।
गुमनामी के अँधेरे में खोता लोकप्रिय उपन्यास साहित्य
---------------------------------------------
          गुमनामी के अँधेरे में खोते जा रहे असाहित्यिक/लोकप्रिय/लुगदी साहित्य को संरक्षित करने का एक छोटा सा प्रयास 'साहित्य देश' ब्लाॅग के माध्यम से किया जा रहा है।
इस क्षेत्र में बहुत से लेखक थे, असंख्य उपन्यास प्रकाशित हुए लेकिन समयानुसार वो सब गुमनामी के अँधेरे में खो गये। बहुत सी अच्छी रचनाएँ आज ढूंढने पर भी नहीं मिलती। पता नहीं वो सब कहां खो गयी।
  एक बङा दुख ये है की इंटरनेट के इस समय में कुछ लेखकों को छोङ कर अन्य किसी भी लेखक की जानकारी उपलब्ध नहीं होती। कोई प्रयास नहीं किया गया।
   अपनी कलम से लाखों लोगों को दीवाने बनाने वाले वो कलम के जादूगर न जाने कहां चले गये।
  उन उपन्यासकारों व उनकी औपन्यासिक कृतियों को संरक्षित करने का एक प्रयास किया जा रहा है।
उपन्यासों का वह अमूल्य भण्डार बिखरा हुआ है, उनको सहेज कर एक जगह एकत्र किया जाये ताकी आगामी पीढी भी इस अमूल्य साहित्य का रसास्वादन कर सके।
यह प्रयास किसी एक व्यक्ति से संभव नहीं है। इसके लिए समस्त उपन्यास पाठकों को कोशिश करनी होगी, तभी इन दुर्लभ कृतियों को सुरक्षित रखा जा सकेगा।
  अगर किसी भी व्यक्ति के  पास लोकप्रिय/लुगदी साहित्य/ असाहित्यिक उपन्यास, उनसे संबंधित कोई जानकारी, लेखकों के नाम या उनसे संबंधित कोई स्मरण हो तो हमें प्रेषित करें।
इस उपन्यास जगत के सुनहरे दौर को सुरक्षित रखने के लिए आपके सहयोग की अति आवश्यक है‌।
धन्यवाद ।
- गुरप्रीत सिंह
श्री गंगानगर, राजस्थान
- sahityadesh@gmail.com
- 9509583944

5 comments:

  1. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  2. अच्छी पहल। आप रवि पॉकेट बुक्स, धीरज पॉकेट बुक्स और राजा पॉकेट बुक्स वालों से भी संपर्क कर सकते हैं। उन्हें मेल करें। हो सकता है इस मामले में वो आपकी मदद करे।

    ReplyDelete
  3. अच्छी पहल। आप रवि पॉकेट बुक्स, धीरज पॉकेट बुक्स और राजा पॉकेट बुक्स वालों से भी संपर्क कर सकते हैं। उन्हें मेल करें। हो सकता है इस मामले में वो आपकी मदद करे।

    ReplyDelete
  4. बेहतरीन प्रयास🙌🙌🙌👏👏👏👏

    ReplyDelete
  5. बेहतरीन प्रयास 👏👏👏

    ReplyDelete